एक – लिव इन रिलेशनशिप में रहते हुए बिलासपुर में रमा को रमेश ने छोड़ दिया 1 साल बाद जब रिश्ता टूट गया तो रमा के जीवन में अंधकार था क्योंकि वह स्वयं को लूटी हुई महसूस कर रही थी परिणाम स्वरूप उसने आत्महत्या कर ली.

दो- रायपुर के निकट सिमगा में राजेश और रजनी लिव इन रिलेशनशिप में लंबे समय तक साथ थे. एक दिन रजनी से प्रताड़ित होकर, एक अंतिम चिट्ठी लिखकर, राजेश ने आत्महत्या कर ली.

तीन- राजनांदगांव में आज के आधुनिक लिव इन रिलेशनशिप के फेरे में पड़कर, सुमित्रा और मोहन कीजिंदगी ऐसे तबाह हुई की एक दिन सुमित्रा कि मोहन ने हत्या कर दी और जेल चला गया.

ये भी पढ़ें- बीमा पौलिसी के नाम पर ठगी

लिव इन रिलेशनशिप की ऐसे ही अनेक किस्से आज हमारे आस-पास घटनाक्रम के रूप में सामने हैं. युवा पीढ़ी क्या इससे सबक लेगी या क्षणिक आवेग में अपनी जिंदगी बर्बाद करते रहेंगे. आइए देखिए एक ऐसे ही रिपोर्ट-

छत्तीसगढ़ के रायपुर में लिव-इन रिलेशन में रहने वाली एक युवती की हत्या का मामला सामने आया है. युवती से पीछा छुड़ाने के लिए आरोपी प्रेमी ने दूध में चूहा मारने का दवाई डालकर  मौत की सौगात दे दी.

घटना राजधानी रायपुर के  डीडी नगर थाना क्षेत्र की है. डीडी नगर थाना प्रभारी मंजूलता राठौर ने संवाददाता को  बताया – मृतिका रीना बंसोड़ और आरोपी नीरज सेन लंबे समय से  “लिव-इन रिलेशनशिप” में थे. मृतका रायपुरा स्थित एक निजी अस्पताल में प्राइवेट जॉब करती थी, उससे  आरोपी नीरज सेन का  गहरा सम्बन्ध जांच मे उजागर हुआ है .

6 महीने पहले किसी बात को लेकर दोनों के मध्य विवाद हुआ, जिसकी वजह से आरोपी नीरज ने सुबह  मृतका के दूध में चूहे मारने की दवाई डालकर पिला दी. हालत बिगड़ने पर मृतका को पडोसी ने अस्पताल में भर्ती कराया .  इलाज के दौरान रीना की मौत हो गई.  मृतका ने अपने अंतिम  बयान में बताया था कि आरोपी नीरज  ने उसे दूध में जहर मिला कर  पिला दिया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद 5 फरवरी 2020, बुधवार को आरोपी नीरज सेन की गिरफ्तारी की गई है.

ये भी पढ़ें- लुटेरी दुल्हनों से सावधान

‘इश्क’ के साइड इफेक्ट!

लिव इन रिलेशनशिप के इस मामले मे  कहानी कुछ इस तरह की है -धमतरी के तरसिंवा निवासी रीना बंसोड़ रायपुर  में नर्सिंग की पढ़ाई कर रही थी. पढ़ाई के साथ ही एक प्राइवेट नर्सिंग होम में वह जाॅब भी करने लगी  थी। इस दरम्यान  रीना  बंसोड का धमतरी कंडेल के रहवासी  नीरज सेन के साथ परिचय  हुआ  धीरे धीरे  संबंध  गहराते  गये .नीरज अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंच जाता था.18 जून 2019  की  रात भी नीरज अपनी प्रेमिका रीना बंसोड  से मिलने डीडी नगर आया . रीना यहां किराये के मकान में रहा करती थी.  दोनों साथ बैठकर बातें कर रहे थे, इसी बीच विवाद हुआ और विवाद इतना बढ़ा कि नीरज  बेकाबू हो गया. फिर जैसा कि  अक्सर होता है  रीना नीरज का विवाद थोड़े समय पश्चात शांत  हो गया.दोनों  ने रात साथ  बितायी .सुबह मानो  नीरज के दिमाग में मर्डर की सनक सवार हो गयी.

19 जून 2019की सुबह आरोपी नीरज सेन  ने दुध में चुहा मारने दवा मिला कर प्रेमिका रीना  को पिला दी.जहर के सेवन से, रीना को उल्टी होने लगी हालत  बिगड़ गयी उसे  गंभीर अवस्था में  अस्पताल दाखिल किया गया, जहां पर उसकी मौत हो गयी. पुलिस ने अस्पताल में रीना का बयान लिया था, जिसमें उसने कहा था कि घटना वाले दिन प्रेमी ने उसे दुध दिया था. इसी के बाद से उसकी तबियत खराब हुई .

ये भी पढ़ें- जिस्मफरोशी के नए अड्डे : भाग 3

आठ माह बाद इस मामले में मृतिका की पोस्ट मार्टम  रिपोर्ट सामने आयी, जिसके बाद पुलिस को साक्ष्य मिल गया  कि रीना  की मौत दूध में जहर मिलाकर पिलाने से हुई थी. इस प्रकरण में खास बात यह रही कि पुलिस को आरोपी तक पहुंचने के लिए 8 महीने का लंबा समय लग गया यह बताता है कि  पुलिस किस बेतरतीब तरीके से काम कर रही है.

Tags:
COMMENT