मां की ऐयाशी का फल सीमा को भुगतना पड़ा. उस पर घर में ऐबौर्शन की नादानी कर सीमा की मां ने उस के प्राण तक ले लिए. क्या बदनामी से बचने का यह तरीका सही था?