शराब एक ऐसी सामाजिक बीमारी है,जिसके चलते आए दिन परिवारों के अंदर कलह होती रहती है.इतना ही नहीं शराब जैसी सामाजिक बीमारी के चलते लोग अपने शराब का सेवन करने वाले प्रियजनों को भी खो रहे हैं. इसी मुसीबत से हर इंसान व परिवार को बचाने के मकसद से बिहार सरकार ने शराब बंदी लागू की है.

मगर इसका खास असर बिहार में नजर नही आ रहा है. अभी भी लोग चोरी छिपे शराब खरीद रहे हैं और उसका सेवन कर रहे हैं. ऐसे में सामाजिक मुद्दों पर आधारित गाने लेकर आने वाली मशहूर संगीत कंपनी ‘‘विजय लक्ष्मी म्यूजिक’’ एक नया गाना ‘‘मिल गईल पियवा पियक्कड़'' को बाजार में लेकर आयी है. यह गाना विजय लक्ष्मी भोजपुरी ट्यून पर रिलीज हुआ है, जिसे लोग खूब पसंद कर रहे हैं. यह एक विशुद्ध रूप से सामाजिक सरोकारों वाला गाना है.

ये भी पढ़ें- Pawan Singh बॉलीवुड में मीत ब्रदर्स के साथ मचाएंगे धमाल, पढ़ें खबर

यह गाना एक शराबी पुरूष की पत्नी की पीड़ा व वेदना को जगजाहिर करता है. इस गाने में अपने पति से पीड़ित पत्नी अपनी वेदना सुनाते हुए कहती है-‘‘मिल गईल पियवा पियक्कड़''. जिसे नीतू श्री ने अपनी मधुर व वेदनामयी आवाज मेें स्वरबद्ध किया है.

vl 2

नीतू श्री कहती हैं-‘‘वर्तमान दौर के एक ज्वलंत विषय पर आधारित है. इस गाने कापक्ष जितना मनोरंजक है, उतना ही यह समाज में जागृति लाने वाला भी है.

ये भी पढ़ें- आकांक्षा दुबे और समर सिंह का गाना ‘विस्फोट’ हुआ वायरल, देखें Video

यह ऐसा गाना है,जिसे हर पुरूष व नारी को सुनना चाहिए. बहुत मजा आएगा. आप भी गाने को सुने और दूसरे को भी सुनाएँ. ’’ गीत ‘‘मिल गईल पियवा पियक्कड़'' के गीतकार अमन अलबेला ,संगीतकार लार्ड जी,निर्देशक रंजीत कुमार सिंह और नृत्य निर्देषक गणेश सपना है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • मनोहर कहानियां की दिलचस्प क्राइम स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की चटपटी गॉसिप्स
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
Tags:
COMMENT