सौजन्य- मनोहर कहानियां

उद्योगपति पवन ग्रोवर ने अपनी बेटी आंचल की शादी बड़े कारोबारी सूर्यांश खरबंदा से की थी. शादी में उन्होंने करीब एक करोड़ रुपए खर्च किए थे. शादी के करीब ढाई साल बाद ऐसा क्या हुआ कि आंचल की लाश पंखे से झूलती हुई मिली?

19नवंबर, 2021 की देर रात करीब साढ़े 11 के आसपास कानपुर के अशोक नगर में मसाला कारोबारी

सूर्यांश खरबंदा के घर के बाहर होने वाले शोरशराबे ने सोसाइटी में रहने वाले अन्य लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा. सूर्यांश खरबंदा देशविदेश में विख्यात मसाला कंपनी एमडीएच के डिस्ट्रीब्यूटर हैं. उन के घर के बाहर उस रात इतना ज्यादा शोरशराबा हो रहा था कि सोसाइटी वालों ने अपने घर से बाहर निकल कर सूर्यांश के घर के बाहर जमावड़ा लगा दिया था.

‘‘गेट खोलो, हम आंचल के मायके के लोग हैं. जल्दी गेट खोलो, वरना पुलिस को बुलाएंगे. बाहर निकलो.’’ ऐसा शोर अशोक नगर की उस पौश सोसाइटी में शायद पहली बार मचा था.

आंचल खरबंदा सूर्यांश की पत्नी थी और उस के मातापिता और भाई मकान के बाहर से घर में घुसने के लिए चीखचीख कर गुहार लगा रहे थे.

एक तरफ आंचल के मायके वालों का मकान में जल्दी घुसने का शोर, दूसरी तरफ मकान के भीतर से कुत्तों के भौैंकने का शोर. इस शोर की वजह से कौन क्या कहना चाह रहा था, किसी को कुछ भी सुनाई नहीं दे रहा था.

कुछ देर के संघर्ष के बाद भी जब सूर्यांश के मकान का गेट नहीं खुला तो आंचल की मां रीना ने फोन कर पुलिस को इस बारे में सूचना दे दी.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • अनगिनत लव स्टोरीज
  • मनोहर कहानियां की दिलचस्प क्राइम स्टोरीज
  • पुरुषों की हेल्थ और लाइफ स्टाइल से जुड़े नए टिप्स
  • सेक्सुअल लाइफ से जुड़ी हर प्रॉब्लम का सोल्यूशन
  • सरस सलिल मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की चटपटी गॉसिप्स
  • समाज और देश से जुड़ी हर नई खबर
Tags:
COMMENT