घर वालों की रजामंदी हुई तो एक दिन शिवगोविंद व रीता मंदिर पहुंचे, वहां शिवगोविंद ने रीता की मांग में सिंदूर भर कर उसे विधवा से सुहागिन बना दिया.

अनलिमिटेड कहानियां आर्टिकल पढ़ने के लिए आज ही सब्सक्राइब करेंSubscribe Now